in

कोरोना वायरस अबआसानी से नहीं हमला कर सकेगा?

अमेरिका में वैज्ञानिकों ने कुछ ऐसे रासायनिक यौगिकों का पता लगाया है, जो कोरोना वायरस को मानवीय कोशिकाओं में प्रवेश करने और अपने जैसे अन्य वायरस पैदा करने के लिए आवश्यक दो प्रोटीन को बाधित करने में सक्षम हैं. इस यौगिक की मदद से कोविड-19 का प्रभावी टीका बनाने में मदद मिल सकती है. कोविड-19 के लिए जिम्मेदार ‘सार्स-कोव-2’ वायरस कई चरणों में शरीर पर हमला करता है. यह पहले फेफड़ों में प्रवेश करता है और मानवीय शरीर के कोशिका तंत्र पर कब्जा करके अपने जैसे कई वायरस पैदा कर देता है. ये दोनों शुरुआती चरण संक्रमण के लिहाज से अहम हैं.
‘साइंस एडवांसेज’ पत्रिका में प्रकाशित नए अध्ययन में पाया गया कि कई मौजूदा रासायनिक यौगिक मानव कोशिकाओं में संक्रमण के लिए आवश्यक ‘लाइजोसोमल प्रोटीज कैथेप्सीन एल’ प्रोटीन और कोशिकाओं में और वायरस पैदा करने में अहम भूमिका निभाने वाले मुख्य प्रोटीज ‘एप्रो’ को बाधित कर सकते हैं. अमेरिका स्थित ‘यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ फ्लोरिडा हेल्थ’ में एसोसिएट प्रोफेसर यू चेन ने कहा कि यदि वैज्ञानिक इन दोनों प्रक्रियाओं को रोकने या बहुत हद तक काबू करने में सक्षम यौगिकों को विकसित कर लें, तो इससे कोरोना वायरस संक्रमण के उपचार में मदद मिल सकती है. यह अनुसंधान करने वाली टीम में यूनिवर्सिटी ऑफ एरिजोना के अनुसंधानकर्ता भी शामिल हैं.

कल से खुलने जा रहे हैं सिनेमा घर

बॉलीवुड सबसे फिट एक्ट्रेसेस शिल्पा शेट्टी