in

ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पाकिस्तान में पथराव

भारत ने की कड़ी निंदा

शुक्रवार की शाम को पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर पथराव किया गया. रिपोर्ट्स के अनुसार ग़ुस्साई भीड़ ने गुरुद्वारा ननकाना साहिब को घेर लिया था.समाचार एजेंसियों के अनुसार इस भीड़ की अगुआई एक लड़के का परिवार कर रहा था जिसने कथित तौर पर गुरुद्वारे के एक कर्मचारी की बेटी को अग़वा कर लिया था.

भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने इस घटना पर एक बयान जारी कर लिखा है, “हम पाकिस्तान से मांग करते हैं कि वो तुरंत ही सिख समुदाय की सुरक्षा के लिए क़दम उठाए. भारत गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हुए हमले की निंदा करता है.”

भारत ने पाकिस्तान में पवित्र ननकाना साहिब गुरद्वारे में तोड़फोड़ की शुक्रवार को कड़ी निन्दा की और पड़ोसी देश से वहां सिखों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाने का आह्वान किया। विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान में श्री गुरु नानक देव जी के जन्मस्थान पवित्र ननकाना साहिब में सिखों के साथ हिंसा हुई है।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ” भारत इस पवित्र स्थान पर तोड़फोड़ और बेअदबी की हरकतों की कड़ी निंदा करता है। इसने कहा, ” हम पाकिस्तान सरकार से सिखों की सुरक्षा एवं कल्याण सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाने का आह्वान करते हैं। मंत्रालय ने कहा, ” उन बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए जो इस पवित्र गुरद्वारे में बेअदबी में शामिल हैं और जिन्होंने अल्पसंख्यक सिखों पर हमला किया है।

मीडिया की खबरों के अनुसार गुरद्वारा ननकाना साहिब पर एक भीड़ ने हमला किया। खबरों के अनुसार शुक्रवार को ननकाना साहिब के स्थानीय लोगों ने शुक्रवार को सिख श्रद्धालुओं पर पथराव किया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रदर्शन का नेतृत्व मोहम्मद हसन के परिवार ने किया है, जिसने कथित तौर पर ननकाना शहर की रहने वाली सिख लड़की का अपहरण किया और उसका धर्मांतरण करा उससे निकाह कर लिया था। ननकाना साहिब गुरुद्वारे ग्रंथी ने आरोप लगाया है कि उनकी बेटी का कुछ लोगों ने पहले बंदूक की नोक पर अगवा किया और फिर उसका जबरन निकाह कराया गया।

आधार कार्ड बनाने के लिए अब दफ्तरों के चक्कर नहीं?

गुरुद्वारा ननकाना साहिब बिल्कुल सुरक्षित – पाकिस्तान