in

पाकिस्तान : लड़कियों के लिए आजादी का जरिया बनी साइकिल

लड़कियों को आजादी से घूमने और जिंदगी बेहतर करने में मदद

सुबह 6 बजे 30-40 लड़कियां साइकिल पर राउंड लगाने लगती हैं

कराची के कस्टम हाउस के सामने बने चौराहे पर हर रविवार सुबह 6 बजे 30-40 लड़कियां साइकिल पर राउंड लगाने लगती हैं। ल्यारी की संकरी सड़कों पर वो आत्मविश्वास के साथ घूमती हैं। करीब दो घंटे तक हेलमेट के नीचे स्कार्फ पहने हुए वे इसी तरह खुशी मनाते हुए लौट आती हैं। कराची में ऐसे 15 साइकिलिंग ग्रुप बन गए हैं, जो लड़कियों को आजादी से घूमने और जिंदगी बेहतर करने में मदद दे रहे हैं।


लड़कियों को आजादी से घूमने और जिंदगी बेहतर करने में मदद

इलेक्ट्रिक वाहन में कंपनियां, आवाज करने वाली मशीन लगाएं: ईयू

इटली में पहला हिन्दी आनलाईन अख़बार लांच हुआ